30 March, 2017

महोब्बत के रंग तुम पर बरस देंगे


एक बार आसमान के तरफ देखना


जिक्र कर दे खुद़ा भी


ख्वाब उसको आखिर भुला दिया


ज़िंदगी को करीब से देखा है मेरे दोस्त


इंतजार में कब से उदास बैठे


तुम्हें चाहे ये कोई बड़ी बात


याद उसको भी मेरी आई है